X
Free Study Rankers App Download Now
0 votes
60 views
in Class VIII Hindi by (-714 points)
UP Board Solutions for Class 8 Hindi Chapter 20 झाँसी की रानी (मंजरी) महत्वपूर्ण गद्यांश की व्याख्या

Please log in or register to answer this question.

1 Answer

0 votes
by (-1,283 points)

सूर्य की किरणों …………………………………………. गरम हो जाएगा।

संदर्भ – प्रस्तुत गद्यांश हमारी पाठ्यपुस्तक ‘मंजरी’ के ‘झाँसी की रानी’ नामक पाठ से लिया गया है। यह प्रसिद्ध उपन्यासकार वृन्दावनलाल वर्मा के नाटक ‘झाँसी की रानी’ का हिस्सा है।

प्रसंग – उपन्यासकार ने अँग्रेजों से युद्ध की बेला पर रानी लक्ष्मीबाई के रूप-सौन्दर्य, उसकी सज्जा और घोड़े के विषय में वर्णन किया है|

व्याख्या – अँग्रेजों से रानी का युद्ध होने जा रहा था। रात्रि के बाद सूर्य का उदय हुआ। रानी का सुन्दर मुख सूर्य की किरणों से और ज्यादा चमकने लगा। उसके नेत्रों में चमत्कार भरी दो गुनी चमक थी। रानी ने लाल पोशाक पहनी थी और गले में मोती-हीरों का कण्ठा शोभायमान था। इसके साथ रानी ने म्यान से तलवार निकाली हुई थी जिसकी चमक निराली थी। रानी ने घोड़े को एड़ लगाई। थोड़ी झिझक के बाद घोड़ा तेज दौड़ने लगी। रानी को उसकी क्षमता पर सन्देह हुआ (परन्तु कोई दूसरा विकल्प नहीं था)।

Related questions

StudyrankersApp

Categories

...